Hey everyone! So Here you get the Normal Days Lyrics in Hindi. Check my feed and please do appreciate my work.
नॉर्मल देस Normal Days Lyrics in Hindi | Khushali Kumar
Normal Days Lyrics in Hindi is narrated by Khushali Kumar. This New Poem is composed by Jigar Panchal, Chirag Panchal. Normal Days Song is written by Khushali Kumar. Featuring by Khushali Kumar.

Song: Normal Days
Music: Jigar Panchal, Chirag Panchal
Lyrics: Khushali Kumar
Featuring: Khushali Kumar 
Label: T-series

Normal Days Lyrics in Hindi

जब माँ कहती थी “वो भी क्या दिन थे”  
पीछे जाने की ज़रूरत क्या है?
अक्सर में ये सोचती थी सुनकर 

कुछ दिनों से हालात Normal नहीं हैं
मन अपने आप भाग जाता है उन दिनों 
की और, जब सब normal था

एक कप chai और glucose के buiscuit
खा कर काम पर निकलना
maa ka peeche peeche bahagkar 
tiffin pakdana
‘arey lunch to le jaa saath’

रस्ते में लोगों को traffic challan देने se bachne ke liye inspector se ladte dekh lagta tha police  public se kyon jhagdti hai??
mein badal gayi ya mera nazaria
par aaj  police kamal lagti hai

कहीं से कुछ भी कहते हुए दोस्त क्या लगते थे
lagatar ek hi baat par ghanton batein
ab lagta hai woh time waste nahin kiya
us connection ka maza hi kuch aur tha

जिनसे कभी hello भी नहीं हुई 
आज उनका भी चेहरा जाना सा लगता है
जिनके पास घर नहीं हैं उनके भी 
आँखें  ka सपना अपना सा लगता है

shayad ye kudrat hum se kuch keh rahi hai
ab thoda ruk kar sochne ko
keh rahi hai
ab tak jo hua ussey kuch seekhne ka ishara kar rahi hai
ab aane wale samay sabko haath pakad kar chalna hoga
maa shayad yehi keh rahi hai

अब अहमियत पता चली की normal
से बढ़कर कुछ और नहीं है

meri माँ ka  पहले के दिनों को सराहना
अब समझ आया क्यों ज़रूरी है?
ताकी जब सब Normal हो जाये
तो हम हर उस चीज़ को जो हमारे 
मुँह पर हंसी  aur
dusron  ke chere par khushi
लाती है उसे जिएँ 
uski khushi meri  hansi
tera mera na koi fasla

maa sabki sach kehti hai
.....सपने सबकी आँखों में है
unhen fir se sach karenge
बस हों जाए एक बार फिर वापस
Normal days

More Songs [New]:

Music Video of Normal Days Song


Previous Post Next Post